कोरोना वायरस के कारण हम सभी अपने-अपने घरों में कैद हैं और अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंतित भी हैं। कोरोनावायरस हो या अन्य कोई भी फ्लू, लगभग सभी बीमारियों में हमारे प्रतिरक्षा तंत्र (इम्युन सिस्टम) की ही परीक्षा होती है। जिस व्यक्ति का प्रतिरक्षा तंत्र जितना मज़बूत होता है, उसे बीमारियां उतनी ही कम प्रभावित करती हैं। इम्युनिटी बढ़ाने में डाइट के साथ-साथ निश्चित समय पर सोने-उठने की भी अहम भूमिका होती है। सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात्रि का भोजन भी एक तय समय पर ही करें। लॉकडाउन के मद्देनज़र हमने यहां ऐसा सिंपल डाइट शेड्यूल दिया है, जिसे आप आसानी से अपना सकते हैं। इसमें शामिल अधिकांश चीज़ें हमारे घरों में मौजूद होती हैं या आप मोहल्ले/ कॉलोनी में स्थित किराने की दुकान से ला सकते हैं।

उठते ही क्या करें?

सुबह-सुबह उठने के तुरंत बाद कुछ लोगों को कुनकुना पानी पीने की आदत होती है। यह अच्छी आदत है, लेकिन इसमें आप 10-15 एमएल यानी लगभग दो से तीन टी स्पून एलोवेरा, गिलोय या व्हाइटग्रास का जूस मिलाकर पी सकते हैं। इससे शरीर का सिस्टम क्लीन हो जाएगा और दिनभर मेटाबॉलिज़्म भी ठीक रहेगा। एलोवेरा या व्हाइटग्रास का जूस किसी भी मेडिकल शॉप में मिल जाएगा।

नाश्ता कब करें?

उठने के दो घंटे के अंदर ही नाश्ता करना जरूरी है। इसमें अपनी पसंद और सुविधानुसार विकल्प चुन सकते हैं। किसी दिन फलों से बनी स्मूदी लें, तो कभी ओट्स उपमा, काला चना चाट, उबली हुई हरी अंकुरित मूंग दाल या सब्जियों का जूस ले सकते हैं। स्मूदी बनाने के लिए घर में उपलब्ध फलों को पीस लें। इसमें चाहे तो शहद, अलसी के बीज या थोड़ी मात्रा में दालचीनी मिला सकते हैं। इस तरह के नाश्ते से शरीर के लिए जरूरी प्रोटीन की पूर्ति होती है। फ्रूट स्मूदी और जूस से शरीर को जरूरी एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं।

लंच में क्या खाएं?

चूंकि इस समय फिजिकल एक्टविटी कम है। इसलिए लंच बहुत ही हल्का लें। लंच में सुनिश्चित करें कि सलाद के साथ हरी सब्जी और दाल जरूर हों। दालें भी बदल-बदलकर लें यानी किसी दिन अरहर, किसी दिन मूंग तो किसी दिन मसूर की हो तो बेहतर रहेगा। साथ ही छाछ या रायता भी खा सकते हैं। खाने के तुरंत बाद पानी न पिएं। एक घंटे बाद कुनकुने पानी में हल्दी मिलाकर पी सकते हैं।

शाम की चाय कैसी हो?

शाम को हर्बल या ग्रीन टी अथवा जैसमीन टी बेहतर विकल्प है। लेकिन अगर अभी ये घर में उपलब्ध ना हों तो सामान्य चाय में तुलसी की पत्तियां, काली मिर्च आदि जरूर मिलाएं। ये इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार होंगी। इसके एक घंटे बाद एकाध फल जैसे सेब, पपीता आदि खा सकते हैं।

डिनर कब और कैसा हो?

रात्रि का भोजन आठ-साड़े आठ तक कर लेना चाहिए। डिनर में अगर दलिया या खिचड़ी होगी तो ज्यादा बेहतर रहेगा। इसके अलावा एक कटोरी मिक्स वेजीटेबल जूस लेे सकते हैं। रात के सूप में टमाटर न मिलाएं। खाने के एक घंटे बाद कुनकुने पानी या दूध में हल्दी मिलाकर पिएंगे तो नींद अच्छी आएगी।

इनकी रोज आदत डालिए

1. तुलसी

हमारे घरों में तुलसी का पौधा होता ही है। तुलसी अपने आप में बहुत गुणकारी है और हमें रोगाणुओं से लड़ने में मदद करती है। रोज सुबह तुलसी की 5-7 पत्तियां खाना चाहिए। पत्तियों को कुनकुने पानी के साथ भी ले सकते हैं।

3. च्यवनप्राश और अश्वगंधा

अश्वगंधा में कई तरह के रोगों से लड़ने की ताकत होती है। इससे शरीर को ऊर्जा भी मिलती है। इसके अलावा च्यवनप्राश खाने की भी आदत डालनी चाहिए। इससे भी प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है।

2. आंवला

आंवले में संतरे से भी कई गुना ज्यादा विटामिन सी होता है। विटामिन सी का संबंध हमारी इम्युनिटी से भी है। अभी आंवले का मौसम नहीं है। इसलिए किसी भी मेडिकल शॉप से आंवले का जूस ले सकते हैं। इसके अलावा आंवले को मुरब्बे, अचार, कैंडी या जैली के रूप में भी खा सकते हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


This schedule of food will become the shield of your body, in order to increase immunity, along with diet, also let take care of sleep



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here