Christmas 2020: 25 दिसंबर यानी क्रिसमस (Christmas) का दिन बहुत खास होता है. माना जाता है कि इस दिन प्रभु यीशु (Lord Jesus) का जन्‍म हुआ था. तब से यह दिन उनके जन्‍म उत्‍सव के तौर पर मनाया जाता रहा है. हर साल क्रिसमस के त्‍योहार पर सेंटा क्‍लॉज आते हैं और बच्‍चों को उपहार (Gifts) देते हैं. यही वजह है कि साल भर बच्‍चे सेंटा क्‍लॉज का इंतेजार करते हैं. भारत की यह खासियत है कि यहां त्‍योहार कोई भी हो, मगर इस बहाने गरीबों,असहायों की मदद की जाती है. अगर इस बार आप भी क्रिसमस कुछ अलग ढंग से सेलिब्रेट करना चाहते हैं, तो अपनी खुशियों में गरीबों, बुजुर्गों को शामिल कर सकते हैं. यकीन कीजिए आपकी खुशियां दोगुनी हो जाएंगी. अगर आप भी इस बार ऐसा ही सोच रहे हैं तो इन आइडिया की मदद ले सकते हैं-

असहाय बच्‍चों के बनें सेंटा क्‍लॉज
क्रिसमस आप उन बच्‍चों को अपने त्‍योहार में शामिल कर सकते हैं, जो शेल्‍टर होम में रह कर जीवन बसर कर रहे हैं. आपका प्‍यार भरा साथ उनके जीवन में खुशियां लाएगा और इस बहाने वे भी समाज की खूबसूरती को अच्‍छी तरह महसूस कर पाएंगे. तो इस बार इन बच्‍चों को बांटिए अपने प्‍यार और साथ का तोहफा और बना लीजिए अपने त्‍योहार को खास.

ये भी पढ़ें – Christmas 2020: इस क्रिसमस बच्‍चों को दें ये बेस्ट गिफ्टखुशियां बुजुर्गों के साथ करें सेलिब्रेट

ओल्‍डएज होम में ऐसे कितने ही लोग रहते हैं, जो परिवार, अपनों से दूर रहकर अपने जीवन का अंतिम समय गुजारने पर मजबूर हैं. बुजुर्गों के इस अकेलेपन में आप खुशियों के दीप जला सकते हैं. उनके अकेलेपन में आपका शामिल हो जाना उन्‍हें खुश कर देगा. तो इस बार अगर कुछ अलग नहीं सोचा है, तो इन बुजुर्गों के साथ क्रिसमस सेलिब्रेट करें. उनकी दुआएं लें और उनकी उदासियों को, अकेलेपन को प्रेम भरे उपहारों से भर दें. बेशक आप बहुत कुछ न कर पाएं मगर हो सकता है आपका कुछ देर का साथ उनको निराशा से निकल कर उम्‍मीद में जीना सिखा दे.

गरीबों की मदद कर दिन बनाएं खास
इस बार आप अपने आस पड़ोस के उन गरीब बच्‍चों को तोहफे देकर अपना त्‍योहार बना सकते हैं, जो बेहद गरीब हों और उनके पास इतने साधन भी न हों कि वह बेहतर तरीके से क्रिसमस की खुशियां सेलिब्रेट कर सकें. गरीबों के पास अक्‍सर इतने साधन नहीं होते कि वे त्‍योहार को अच्‍छी तरह मना सकें. इस बार आप उपहार के बहाने उन्‍हें उनकी जरूरतों के सामान दे सकते हैं. इस बहाने आप गरीबों की मदद कर सकते हैं.

लंगर के बहाने बांटिए खुशियां

इसके अलावा अगर आपके एरिया के आस पास कुछ गरीब और ऐसे लोग भी रहते हैं जिनके लिए दो वक्‍त की रोटी जुटाना भी मुश्किल काम है, तो आप उनके लिए लंगर लगा सकते हैं. उन्‍हें वह खिला सकते हैं, जो आप उन्‍हें खिलाना चाहते हैं. मानसिक शांति के लिए तो कभी अपनी खुशियां बांटने के लिए हम अक्‍सर ऐसा ही करते हैं. तो इस बार अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं, तो अपनी खुशियां बांटिए लंगर के बहाने गरीबों को खाना खिला कर. आपको आत्मिक आनंद आएगा.

ये भी पढ़ें – क्रिसमस सेलिब्रेशन पर इन मेकअप टिप्‍स की मदद से बन जाएं महफिल की शान

जानवर भी हैं दया, खुशी के हकदार
इंसानों की तरह ऐसे बहुत से जानवर हैं, जो आपको गली, मुहल्‍लों में भूखे प्‍यासे मिल जाएंगे. अगर आप इनकी मदद करना चाहते हैं, तो यह त्‍योहार अच्‍छा बहाना बन सकता है और आप इसके बहाने इन जानवरों को खाना खिला सकते हैं, इनके लिए कोई खास जगह ढूंढ़ सकते हैं, जहां ये रह कर सर्दियां गुजार सकें. इनको गरम कपड़े पहना सकते हैं. ये बेजबान आपको दुआएं देंगे और आपको भी भीतरी खुशी का एहसास होगा.





Source link