दुनिया की बड़े रेटिंग एजेंसी मूडीज ने Yes Bank में दी पैसा लगाने की सलाह, कहीं ये बातें

यस बैंक

यस बैंक (Yes Bank) को संभालने की सरकार की कोशिशों के बाद रेटिंग एजेंसी मूडीज (Rating Agency Moody’s) से भी बैंक को राहत मिली है.

नई दिल्ली. यस बैंक (Yes Bank) को संभालने की सरकार की कोशिशों के बाद रेटिंग एजेंसी मूडीज (Rating Agency Moody’s) से भी बैंक को राहत मिली है. मूडीज ने बैंक के आउटलुक में बदलाव करते हुए इसे पॉजिटिव कर दिया है. आरबीआई की पुनर्गठन योजना के तहत पूंजी स्थिति में तेजी के साथ सुधार को देखते हुए रेटिंग एजेंसी ने यह कदम उठाया है.

इससे पहले, दिन में यस बैंक ने घोषणा की कि एसबीआई की अगुवाई में सात बैंकों ने बैंक की आधार पूंजी मजबूत करने को लेकर करीब 10,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. बाद में रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि जरूरत पड़ने पर यस बैंक को केन्द्रीय बैंक और अतिरिक्त पूंजी उपलब्ध करायेगा.

मूडीज इनवेस्टर सर्विस ने देर शाम एक बयान में कहा कि हम आज (सोमवार) यस बैंक की लॉन्ग टर्म विदेशी मुद्रा निर्गमकर्ता और विदेशी मुद्रा (सीनिएर अनसिक्योर्ड) एमटीएन कार्यक्रम रेटिंग को क्रमश: सीएए3 से (पी) सीएए1 और (पी) सीएए3 से (पी) सीएए1 करते हैं. इसके अनुसार ऋण परिदृश्य को नकारात्मक से बदलकर सकारात्मक कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: बिना ब्याज दर घटाए ही RBI ने कम की आपकी EMI, जानकर हो जाएंगे खुश!6 मार्च को घटाई थी रेटिंग
बता दें कि इसके पहले 6 मार्च को मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने यस बैंक लिमिटेड की रेटिंग को घटा दिया था. रिजर्व बैंक द्वारा यस बैंक को देनदारियों का भुगतान करने से 30 दिन के लिए रोके जाने के बाद रेटिंग में यह कमी की गई. मूडीज ने यस बैंक लिमिटेड की दीर्घकालिक विदेशी मुद्रा जारीकर्ता रेटिंग को बी2 से घटाकर सीएए3 कर दिया था और बैंक की दीर्घकालिक विदेशी और स्थानीय मुद्रा बैंक जमा रेटिंग को भी घटा दिया था.

ये बैंक करेंगे अब यस बैंक में निवेश
यस बैंक को संकट से उबारने के लिए स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया यानी एसबीआई ने 49 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदने का ऐलान किया है. इसमें 26 फीसदी शेयर में 3 साल का लॉक इन है. यानी एक बार खरीदने के बाद 3 साल तक के लिए इन शेयरों को नहीं बेचा जा सकेगा. इसके अलावा निजी क्षेत्र के एक्सिस बैंक भी यस बैंक में 600 करोड़ रुपये का निवेश करेगा. वहीं हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी ने 1,000 करोड़ रुपये और कोटक महिंद्रा बैंक ने 500 करोड़ रुपये की पूंजी निवेश करने का ऐलान किया है. इसी तरह आईसीआईसीआई बैंक भी येस बैंक के 100 करोड़ शेयरों के अधिग्रहण के लिए उसमें 1,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगा.

ये भी पढ़ें: Yes Bank ग्राहकों के लिए राहत की खबर! कल से शुरू होगी सभी बैंकिंग सेवा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इनोवेशन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: March 17, 2020, 11:26 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here