The Alchemist Learning (photo credit: instagram/books_and_rec)

The Alchemist Learning (photo credit: instagram/books_and_rec)

The Alchemist Learning: पाउलो कोएल्हो डी सूज़ा द्वारा लिखी किताब ‘द अल्केमिस्ट’ को हिंदी में कमलेश्वर जी ने अनुवादित किया है. किताब में एक जगह जिक्र है कि अगर आप किसी चीज को पूरे दिल से हासिल करना चाहते हैं तो पूरी कायनात आपको लक्ष्य हासिल करने में मदद करती हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 15, 2020, 6:33 PM IST

पाउलो कोएल्हो डी सूज़ा का उपन्यास द अल्केमिस्ट ( The Alchemist) एक बेस्ट सेलर नॉवेल है. इस नॉवेल की कहानी एक स्पेनिश लड़के के इर्द गिर्द घूमती है जोकि एक चरवाहा है. लेकिन ये लड़का अपने सपनों को पूरा करने के लिए जोकि उसके बेहद करीब होते हैं के लिए अपना सबकुछ दांव पर लगा देता है और पूरी शिद्दत के साथ अपने सपनों और रास्ते में मिलने वाले लोगों और संकेतों को समझता हुआ अपनी यात्रा पूरी करता है. इस किताब के मूल संदेश ने कई लोगों के दिलों में हलचल मचाई और लोगों को काफी प्रेरणा दी.

कई बार ऐसा होता है ‘जब मन में ऐसे ख्याल आते हैं कि क्या हम वर्तमान में जहां हैं वहां से कुछ बेहतर कर सकते हैं’ या फिर कई बार ऐसा भी होता है कि मन में कई सपने होते हैं लेकिन कुछ जिम्मेदारियों के चलते हमें उन्हें छोड़ना पड़ जाता है. ऐसे में ये किताब जीवन के लिए वाकई एक प्रेरणा बन सकती हैं. किताब के कुछ ख़ास कोट्स जिंदगी का सार बयां करते हैं.

पाउलो कोएल्हो डी सूज़ा द्वारा लिखी किताब ‘द अल्केमिस्ट’ को हिंदी में कमलेश्वर जी ने अनुवादित किया है. किताब में एक जगह जिक्र है कि अगर आप किसी चीज को पूरे दिल से हासिल करना चाहते हैं तो पूरी कायनात आपको लक्ष्य हासिल करने में मदद करती हैं. स्पेनिश लड़का ‘सैंटियागो ‘ जब अपने सपनों को पूरा करने की यात्रा शुरू करता है तो शुरुआत में कई चुनौतियां सामने आती हैं. कई बार वो अपने लक्ष्य से भटकता भी है. लेकिन कुछ घटनायें और लोग उसे अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रेरित करते रहते हैं.

जीवन में कई बार एक साथ बहुत कुछ घट रहा होता है और कई बार कुछ भी नहीं. ऐसे में मन काफी अशांत होता है. लेकिन इस दौरान कायनात आपका पैशन और इच्छाशक्ति परख रही होती है कि क्या आपने अंदर अपने सपनों को हासिल करने का जज्बा है.कहानी यह भी सिखाती है कि अगर किसी काम को करने का कोई सही वक्त है तो वो ‘अभी’ है. अगर आप अपने सपनों की उड़ान के लिए आपभी से शुरुआत नहीं करते हैं तो हो सकता है कि आने वाला वक्त आपके लिए वक्त ही ना लाये या कोई दूसरी चुनौती सामने आ जाए. इसलिए जोभी करना है उसकी शुरुआत तत्काल करें.

कई बार हम अपने सपने पूरे करने या कोई नई शुरुआत करने से इसलिए भी डरते हैं क्योंकि हम किसी चीज को लेकर निश्चित नहीं होते हैं. एक अनजानी आशंका, एक डर हमेशा बना रहता है कि अगर हमने जो सोचा है हमें वो हासिल नहीं हुआ और हमारे पास जो है वो भी हमसे छूट गया तो?इसी वजह से कई लोग एक नई शुरुआत चाह कर भी नहीं कर पाते हैं. ये किताब हमें सिखाती है कि हमें अपने सपनों को लेकर थोड़ा निडर और निर्भीक होना चाहिए. हमें चुनौतियों से घबराना नहीं चाहिए क्योंकि चुनौतियां ही जीवन में अनुभव देती हैं.





Source link