जेमी दुचार्मे.अमेरिका में न्यूयॉर्क सहित कई शहरों में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों और उनके परिजनके बीच संपर्क कराने के लिए स्मार्टफोन और टेबलेट जैसे गैजेट्स जुटाने का अभियान चल रहा है। भारतीय मूल के दो भाइयों सहित कई कंपनियां इस मुहिम में शामिल हैं। मार्च में न्यूयॉर्क शहर की नर्सों के लिए टेबलेट जुटाने का अभियान शुरू किया गया था। ये नर्स वीडियो कॉल के जरिये मरीजों की उनके परिजनसे बातचीत कराती हैं। यह सुविधा उन लोगों के बहुत काम आई है, जिनके पास स्मार्ट फोन या चार्जर नहीं थे।

गिफ्ट भेजने वाली कंपनी लूप एंड टाई की सीईओ रोडेल कहती हैं कि हमें अहसास हुआ कि कंपनी मरीजों और उनके प्रियजनों के बीच वीडियो कॉल कराने के लिए अस्पतालों को टैबलेट, स्मार्ट फोन भेज सकती है।

एक दर्जन से अधिक महिलाओं ने यह काम हाथ में लिया

रोडेल और एक दर्जन से अधिक महिलाओं की टीम ने इस काम को हाथ में लिया। ये महिलाएं एक-दूसरे से पहले कभी नहीं मिली थीं। उन्होंने कंपनियों से टैबलेट दान करने की अपील की। कुछ अन्य गैजेट्स की खरीद के लिए इंटरनेट पर गोफंडमी अभियान शुरू किया। अप्रैल के तीसरे सप्ताह तक उन्हें डोनेशन के जरिये 4500 डिवाइस मिल चुके थे।

भारतीय मूल के दो भाइयों ने जुटाए 250 स्मार्टफोन
भारतीय मूल के दो भाइयों- सनी संधू और मनराज सिंह भी दान में मिले स्मार्ट फोन से लोगों को जोड़ने का अभियान चला रहे हैं। वे 250 स्मार्ट फोन जुटा चुके हैं। संधू ने अपने भाई के साथ मिलकर मरीजों को उनके परिवार के लोगों से जोड़ने के लिए स्मार्टफोन जुटाना शुरू किए। उन्होंने मेडिकल छात्रों के साथ मिलकर बाल्टीमोर, न्यूयॉर्क, बोस्टन और वाशिंगटन, फिलाडेल्फिया सहित कई शहरों में यह मुहिम चलाई है।

मेडिकल छात्रों ने भी अभियान शुरू किया

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, सैनफ्रांसिस्को के मेडिकल छात्रों ने कोविड-19 के समय कनेक्टिवटी नामक अभियान की शुरुआत की है। वे डोनेशन में मिली 25 टेबलेट के माध्यम से मरीजों के लिए वीडियो कॉल कराते हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, सैनफ्रांसिस्को के मेडिकल छात्रों ने कोविड-19 के समय कनेक्टिवटी नामक अभियान की शुरुआत की है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here