ठंड से बचाव के लिए बच्चों के खास अंगों को ढक कर रखें. Image Credit:Pexels/Helena-Lopes

ठंड से बचाव के लिए बच्चों के खास अंगों को ढक कर रखें. Image Credit:Pexels/Helena-Lopes

Winter Care: सर्दियों के मौसम (Winter Season) में कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं (Health Problems) हो सकती हैं. इस मौसम में पनपने वाले वायरस (Virus) और बैक्टीरिया भी बच्चों (Children) को तेजी से अपना शिकार बनाते हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 22, 2020, 4:09 PM IST

Winter Care: सर्दियां आ गई हैं. इस मौसम (Winter Season) में कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं (Health Problems) हो सकती हैं. इसमें जहां बुजुर्गों को ठंड लगने का सबसे ज्यादा खतरा रहता है, वहीं इस मौसम में पनपने वाले वायरस (Virus) और बैक्टीरिया भी बच्चों (Children) को तेजी से अपना शिकार बनाते हैं. ऐसे में उन्हें सर्दी-जुकाम, सासं लेने में दिक्‍कत और बुखार जैसी समस्याएं हो सकती हैं. यही वजह है कि सर्दियां शुरू होते ही बच्‍चों का खास ख्‍याल रखा जाता है. उन्‍हें गर्म कपड़े, टोपी आदि पहनाए जाने लगते हैं. इसके अलावा कुछ अन्‍य बातें भी हैं जिनकी जानकारी होना जरूरी है. इनकी मदद से आप अपने नन्‍हों-मुन्‍नों को बीमार पड़ने से बचा सकते हैं.

खास अंगों को ढक कर रखें
ठंड से बच्चों को बचाए रखने के लिए उनके खास अंगों को जरूर ढक कर रखें. जैसे उनके हाथ, पैर और कान, सिर. अपने बच्चों को टोपी, दस्ताने और मोजे पहना कर रखें. दरअसल, शरीर के इन हिस्सों पर ही सबसे पहले ठंड का प्रभाव पहुंचता है. इसलिए बच्चों के टोपी, दस्ताने और मोजे जरूर पहनाकर रखें.

ये भी पढ़ें – कोरोना काल में बच्‍चों से जुड़ी परेशानियों पर यूनिसेफ ने दिए 5 सुझावसाफ-सफाई का रखें ध्‍यान

सर्दियों में भी बच्‍चों की साफ सफाई का पूरा ध्‍यान रखें. बच्‍चा ज्‍यादा छोटा है तो दो दिन छोड़कर उसे नहलाएं. मगर हर दिन गुनगुने पानी में तौलिया भिगोकर उसके शरीर को साफ जरूर करें. साथ ही जब भी बच्‍चे को नहलाएं तो खुले में स्‍नान न कराएं. बंद जगह में नहलाने से उसे हवा नहीं लगेगी.

मालिश है बहुत जरूरी
इसके साथ ही प्रतिदिन बच्चे की मालिश भी जरूर करें. इससे बच्चे के मसल्स और हड्डियां मजबूत होंगी. बच्‍चे की मालिश के लिए बादाम का तेल या जैतून का तेल ज्‍यादा फायदेमंद माना जाता है.

बच्‍चों के लिए जरूरी है धूप

अच्छी सेहत के लिए धूप बहुत जरूरी होती है. बच्‍चे को भी पूरी तरह धूप लगे, इसलिए उसे कुछ समय धूप में जरूर लिटाएं. मगर उसको हवा न लगे इसलिए उसको पूरी तरह ढके रहें.

ये भी पढ़ें – बुलिंग से तंग बच्‍चे होते हैं फूड एलर्जी के शिकार, जानिए कैसे

रूम हीटर का न करें इस्‍तेमाल
बच्चों के कमरे की खिड़कियां खोले रखें. तेज हवा आ रही हो तो बंद कर दें मगर लगातार बंद न रहने दें. इसके अलावा बच्‍चों के कमरे में अंगीठी जलाकर न रखें और न ही हीटर का इस्‍तेमाल करें. दरअसल, रूम हीटर से निकलने वाली सूखी हवा बच्चों को नुकसान पहुंचा सकती है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)





Source link