Aarogya Setu App: 9 करोड़ से ज़्यादा बार हुआ डाउनलोड, जल्द मिलेगा ये खास फीचर

आरोग्य सेतु एक COVID-19 ट्रैकर ऐप है.

कोरोना वायरस को ट्रैक करने वाली सरकारी ऐप आरोग्य सेतु को अब तक करीब नौ करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है…

कोरोनो वायरस (coronavirus) के संक्रमण के प्रति लोगों को आगाह करने के लिये बनाए गए सरकारी ऐप आरोग्य सेतु को अब तक करीब नौ करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है. इस ऐप में जल्दी ही टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सक (telemedicine) के परामर्श की सुविधा जोड़ी जाने वाली है. नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने सोमवार को इसकी जानकारी दी.

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जारी अभियान को मजबूती देने को लेकर सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लिकेशन का इस्तेमाल करना अनिवार्य कर दिया है. संगठनों के प्रमुखों को ये सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि यह ऐप सभी कर्मचारियों के फोन में हो.

(ये भी पढ़ें- बिना Password के भी इस्तेमाल कर सकते हैं किसी का भी Wifi, ये है आसान तरीका)  

कांत ने कहा, ‘आरोग्य सेतु ऐप को अब तक करीब नौ करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका है. इसमें टेलीमेडिसिन (टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सक के परामर्श) की सुविधा को जोड़ा जा रहा है.’ ये मोबाइल ऐप यूज़र्स को ये जानने में मदद करता है कि उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमण का खतरा है या नहीं. ये कोरोनो वायरस के संक्रमण से बचने के तरीकों सहित महत्वपूर्ण जानकारी भी लोगों को प्रदान करता है.

मिलेगी ये सर्विस
सरकारी ऐप आरोग्य सेतु पर एक ‘आरोग्य सेतु मित्र’ नाम से एक नई पहल को जोड़ा जा रहा है. ये एक पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप होगी, जिसमें टाटा ग्रुप, टेक महिंद्रा और सरकार के साथ मिलकर काम करेंगी. आरोग्य सेतु मित्र एक अलग साइट होगी और इसमें आरोग्य सेतु ऐप से किसी भी व्यक्ति की कोई भी जानकारी शेयर नहीं होगी.

(ये भी पढ़ें-सस्ता हो गया है Vivo का तीन कैमरे वाला शानदार स्मार्टफोन, मिलेगी 4500mAh की दमदार बैटरी भी)

घर पर मिलेंगी ज़रूरी सेवाएं
इस सुविधा को प्रधानमंत्री के प्रिंसिपल साइंटिफिट एडवाइजर और नीति आयोग द्वारा फैसिलिटेट किया गया है. इन्हीं के अंतर्गत यह ऑपरेट करेगा. इसमें संस्थाएं स्वैच्छिक रूप से भाग ले सकती हैं ताकि आम नागरिकों के लिए इस प्लेटफॉर्म को बेहतर बनाया जा सके और घर पर ही लोगों को जरूरी सेवाएं उपलब्ध कराई जा सके.
(इनपुट-भाषा से)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: May 5, 2020, 8:30 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here