राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की मुख्य परीक्षाएं शुरू हुई। पहले चरण में सीनियर सैकंडरी और वरिष्ठ उपाध्याय की परीक्षाएं प्रारंभ हुई। जबकि सैकंडरी की परीक्षाएं अगले सप्ताह 12 मार्च से प्रारंभ होगी।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की मुख्य परीक्षाएं शुरू हुई। पहले चरण में सीनियर सैकंडरी और वरिष्ठ उपाध्याय की परीक्षाएं प्रारंभ हुई। जबकि सैकंडरी की परीक्षाएं अगले सप्ताह 12 मार्च से प्रारंभ होगी।
बोर्ड परीक्षाओं में इस साल रिकॉर्ड 20 लाख 58 हजार 159 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। यह पिछले वर्ष की तुलना में 43 हजार 273 अधिक है। बोर्ड ने राज्य में 5 हजार 685 परीक्षा केन्द्र बनाए हैं। 59 परीक्षा केन्द्र संवदेनशील और 31 केन्द्र अतिसंवेदनशील चिह्नित किए गए हैं। यहां सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। पहले दिन 5 मार्च को सीनियर सैकंडरी के 8 लाख 67 हजार से अधिक विद्यार्थी अंग्रेजी की परीक्षा में बैठें।
बोर्ड अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बताया कि 306 परीक्षा केन्द्रों को सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रखा गया है। सभी उत्तर पुस्तिका संग्रहण-वितरण केन्द्रों और उप केन्द्रों को कैमरों की जद में रखा गया है।
सर्वाधिक परीक्षार्थी कला वर्ग के: सीनियर सैकंडरी कला वर्ग में 5 लाख 90 हजार 923, वाणिज्य वर्ग में 36 हजार 551 और विज्ञान वर्ग में 2 लाख 39 हजार 800 परीक्षार्थी परीक्षा में प्रविष्ट होंगे। सैकंडरी परीक्षा के लिए कुल 11 लाख 35 हजार 747, प्रवेशिका परीक्षा के लिए 6 हजार 972 और व्यावसायिक परीक्षा के लिए 42 हजार 989 परीक्षार्थी पंजीकृत किए गए हैं।
प्रश्न-पत्र पुलिस थानों में : बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि 4 हजार 934 परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र पुलिस थानों एवं 305 परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र पुलिस चौकी पर रखे गए हैं। 148 परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र नोडल केन्द्रों पर रखे गए हैं। सीकर जिले के 43 परीक्षा केन्द्रों और जालोर के 5 परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र पुलिस लाइन में रखे जाएंगे। 250 परीक्षा केन्द्रों के प्रश्न-पत्र उन्हीं परीक्षा केन्द्र पर रखे गए हैं। यहां 24 घण्टे सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की जा रही है।
नकल रोकने के लिए 191 उडऩदस्ते: डॉ. जारोली ने बताया कि बोर्ड स्तर पर 60 विशेष उडऩदस्ते तैनात किए गए हैं। इसके अलावा जिला स्तर पर 125 और संयुक्त शिक्षा निदेशकों की देखरेख में 9 उडऩदस्ते गठित किए गए हैं।

नकल की तो तीन वर्ष कैद
परीक्षार्थियों को नकल व अनुचित साधनों के संबंध में दण्ड के प्रावधानों से अवगत कराने के लिये प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर नकल की रोकथाम संबंधी पोस्टर प्रेषित किए हैं। ये पोस्टर परीक्षा-कक्षों में लगाए गए हैं। अनुचित साधनों का उपयोग करने पर तीन वर्ष तक का कारावास और नकद जुर्माने का प्रावधान है। परीक्षा केन्द्रों से 100 मीटर की परिधि में मोबाइल फोन या किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रोनिक डिवाइस का प्रयोग निषेध है। परीक्षा
केन्द्र में नियुक्त कोई भी कर्मचारी या वीक्षक अपने साथ मोबाइल
या इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं ले जा सकते हैं।







Show More














Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here