• अमेरिका के विदेश मंत्री ने फिर चीन पर दबाव बनाया है कि वह दुनिया के वैज्ञानिकों को अपने लैब की जांच की अनुमति दे
  • संयुक्त राष्ट्र ने कहा- संकट की वजह से 30 से ज्यादा देशों के लगभग 26.5 करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर होंगे
  • फ्रांस में मरने वालों का आंकड़ा 21 हजार के हार पहुंचा, राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कुछ सेक्टर्स में सशर्त राहत दी है

दैनिक भास्कर

Apr 23, 2020, 02:56 AM IST

वॉशिंगटन. दुनिया में अब तक 26 लाख 21 हजार 436 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 82 हजार 989 की मौत हो चुकी है। सात लाख 14 हजार 319 ठीक हुए हैं। पाकिस्तान में संक्रमितों का आंकड़ा 10 हजार के पार हो गया। यहां डॉक्टर्स एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है कि वो रमजान के दौरान मस्जिदों में नमाज की मंजूरी को फौरन वापस ले। वहीं, पाकिस्तान के स्वास्थ्य राज्य मंत्री जफर मिर्जा ने बताया कि बुधवार को प्रधानमंत्री इमरान खान का कोरोनावायरस के संक्रमण का टेस्ट किया गया था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

स्पेन में मौतों की दर कम हो रही है। सरकार अगले महीने कुछ पाबंदियां हटा सकती है। यहां सबसे बड़े अस्थायी मुर्दाघर को भी अब बंद कर दिया गया है। एक अहम खबर ब्रिटेन से है। यहां की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता गुरुवार से कोरोना वैक्सीन का टेस्ट इंसानों पर शुरू करेंगे। 

अमेरिका ने चीन पर लैब की जांच करने के लिए दबाव बनाया

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने  फिर चीन पर दबाव बनाया है कि वह दुनिया के वैज्ञानिकों को अपने लैब की जांच की अनुमति दे। पॉम्पियो ने इस बात को भी खारिज करने से इनकार कर दिया कि वुहान के लैब से ही कोरोनावायरस लीक हुआ था। उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि चीन के अंदर अभी भी इस तरह की लैब खुली हुईं हैं। इन लैब्स में अभी भी वायरस पर अध्ययन हो रहा है। ऐसे में चीन को जांच में सहयोग करना चाहिए।

फ्रांस : पाबंदियों में सशर्त छूट

देश में मरने वालों का आंकड़ा 21 हजार के पार चला गया है। यहां अब तक 21 हजार 340 की मौत चुकी है। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कुछ सेक्टर्स में सशर्त राहत दी है। यहां देखिए फ्रांस पर एक वीडियो रिपोर्ट।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 8 लाख 37 हजार 719 46 हजार 771 83 हजार 462
स्पेन 2 लाख 8 हजार 389 21 हजार 717 85 हजार 915
इटली  1 लाख 87 हजार 327 25 हजार 085 54 हजार 543
फ्रांस 1 लाख 59 हजार 877 21 हजार 340 40 हजार 657
जर्मनी 1 लाख 49 हजार 771 5 हजार 211 99 हजार 400
ब्रिटेन 1 लाख 33 हजार 495 18 हजार 100 उपलब्ध नहीं
तुर्की  98 हजार 674 2 हजार 376 16 हजार 477
ईरान 85 हजार 996 5 हजार 391 63 हजार 113
चीन 

82 हजार 788

4 हजार 632 77 हजार 151
रूस 57 हजार 999 513 4 हजार 420

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

कराची के एक कोरोना टेस्ट सेंटर के बाहर मंगलवार को टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार करती महिला और बच्ची। पाकिस्तान में बुधवार को संक्रमितों का आंकड़ा 10 हजार से ज्यादा हो गया। यहां मेडिकल एसोसिएशन ने सरकार से मांग में कहा है कि रमजान के दौरान मस्जिदों में नमाज की मंजूरी रद्द की जाए।

दुनिया के 90 फीसदी बच्चे लॉकडाउन में
सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महामारी की वजह से दुनिया के 90 फीसदी बच्चे इस वक्त लॉकडाउन में हैं। इसका असर गरीब बच्चों पर ज्यादा पड़ेगा। दुनिया के बाकी देशों की तरह ब्रिटेन में भी स्कूल बंद हैं। यहां बच्चों को पिछले प्रदर्शन के आधार पर रिजल्ट देने की तैयारी है। हालांकि, इस रिपोर्ट के लिए बिटिश स्कूलों को ही आधार बनाया गया है।  

तुर्की : सरकार से सख्त खफा डॉक्टर्स
14 डॉक्टरों और 10 नर्सों की संक्रमण से मौत के बाद मेडिकल एसोसिएशन ने एर्डोगन सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। तीन हजार 500 हेल्थ वर्कर अब भी पॉजिटिव हैं। एसोसिएशन ने कहा, “सरकार ने वॉर्निंग को अनदेखा किया। जरूरी इक्युपेंट्स तक नहीं दिए गए। हालात अब खराब हैं लेकिन, अफसर अब भी संभलने तैयार नहीं हैं।”

तुर्की की राजधानी अंकारा में मंगलवार को फूड शॉप में खरीदारी करते लोग। सरकार ने यहां बढ़ते संक्रमण को देखते हुए रविवार से चार दिन कर्फ्यु का ऐलान किया है। दूसरी तरफ डॉक्टर्स एसोसिएशन सरकार से नाराज हो गया है।

जापान : ट्यूलिप से दूरी

यहां के नागरिक फूलों से बहुत प्यार करते हैं। ‘द गार्डियन’ के मुताबिक, टोक्यो से 50 किलोमीटर दूर सकूरा में होने वाला सालाना ट्यूलिप फेस्टिवल रद्द कर दिया गया है। इतना ही नहीं इस पार्क में ट्यूलिप के हजारों पौधे काट दिए गए हैं। इसकी वजह पार्क में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए पर्याप्त जगह तैयार करना है।

जापान में टोक्यो से करीब 50 किलोमीटर दूर सकूरा सिटी में हर साल होने वाला ट्यूलिप फेस्टिवल रद्द कर दिया गया है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जगह रहे, इसलिए हजारों पौधे काट दिए गए हैं। 

ब्रिटेन: बकघिंम पैलेस और विंडसर कैसल में जून में होने वाले सभी कार्यक्रम कोरोनावायरस की वजह से रद्द कर दिए गए हैं। एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी गई। देश में अब तक कोरोना से 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का वेंटिलेटर एक अस्पताल को डोनेट कर दिया गया है। स्टीफन का 2018 में निधन हो गया था। वे मोटर न्यूरॉन बीमारी से ग्रसित थे। उनकी बेटी के मुताबिक, बाकी सभी उपकरण अस्पताल को लौटा दिए गए थे। 

स्पेन : मुर्दाघर बंद
मैड्रिड शहर में बनाए गए अस्थायी मुर्दाघर को स्थानीय प्रशासन बंद करने जा रहा है। करीब एक महीने में सेना के ट्रकों से लाए गए 1146 श‌व यहां बर्फ के बीच रखे गए थे। यहां की मेयर इसाबेल डियाज की मौजूदगी में बुधवार को यहां दो मिनट का मौन रखकर मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। डियाज ने कहा, “इससे ज्यादा राहत और क्या होगी कि यहां अब कोई डेड बॉडी नहीं है। हमारी सेना और कर्मचारियों ने हर पार्थिव शरीर को पूरा सम्मान दिया।” 

स्पेन : पाबंदियां हटेंगी

देश की संसद ने इमरजेंसी की मियाद 9 मई तक बढ़ाने को मंजूरी दे दी है। तीसरी बार इमरजेंसी बढ़ाई गई है। सबसे पहले 14 मार्च को इसकी घोषणा की गई थी। देश में सख्त लॉकडाउन को करीब डेढ़ महीना हो चुका है। मृतकों की दर में कमी आई है। लिहाजा, सरकार ने संकेत दिए हैं कि अगले महीने 15 मई तक सख्त पाबंदियों में कुछ ढील दी जा सकती है। माना जा रहा है कि रेस्टोरेंट्स और कैफे खोले जा सकते हैं। लेकिन, ये साफ है कि स्कूल, कॉलेज और सामाजिक समारोहों पर लगी पाबंदी नहीं हटाई जाएंगी।

स्पेन के मैड्रिड शहर की मेयर इसाबेल डियाज के मुताबिक, अस्थायी मुर्दाघर में हर पार्थिव शरीर को दफनाने से पहले पूरा सम्मान दिया गया।

अमेरिका पर तंज

नोबेल पुरस्कार से नवाजे जा चुके इकोनॉमिस्ट जोसेफ स्टिग्लिट्ज ने अमेरिका की ट्रम्प सरकार पर तंज कसा। कहा, “अमेरिका महामारी से ऐसे निपट रहा है जैसे वो तीसरी दुनिया का गरीब देश हो। यहां आर्थिक मंदी का खतरा मंडरा रहा है।” ब्रिटिश अखबार ‘ग गार्डियन’ को दिए इंटरव्यू में जोसेफ ने कहा, “लाखों लोग फूड बैंक के आगे खड़े हैं। गरीबों को पैसा नहीं मिल रहा है और हेल्थ फेसेलिटीज बेहद कमजोर नजर आ रही हैं। आने वालों महीनों में बेरोजगारी दर 30 फीसदी होने की आशंका है।”  

फ्रांस : बेरोजगारी से निपटने की तैयारी
देश के करीब 22 लाख अस्थायी कर्मचारियों ने सरकार की बेरोजगारी योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। लेबर मिनिस्टर मुरील पेनिकॉड ने कहा, “हर दूसरे कर्मचारी ने योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन किया है। हर 10 में से 6 कंपनियों को सरकारी सहायता की जरूरत है। हम कोशिश कर रहे हैं कि जितना हो सके, इन लोगों की सहायता करें। हालात संभलने में कुछ वक्त लगेगा।” 

अकाल का खतरा

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, महामारी की वजह से कई देशों में अकाल का खतरा है। विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) के प्रमुख डेविड बेस्ले ने कहा कि 30 से ज्यादा देशों में अकाल रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए। इस संकट की वजह से लगभग 26.5 करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर होंगे। यमन, कांगो, अफगानिस्तान, वेनेजुएला, इथियोपिया, दक्षिण सूडान, सूडान, सीरिया, नाइजीरिया और हैती उन देशों की सूची में शामिल हैं, जहां अकाल का खतरा सबसे ज्यादा है। 

नाइजीरिया के अबुजा शहर में बुधवार को लॉकडाउन के दौरान मुफ्त राशन के लिए जुटी महिलाएं।

अमेरिका: दूसरे दौर का खतरा
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के डायरेक्टर रॉबर्ट रेडफिल्ड के मुताबिक, कोरोना का दूसरा दौर बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा- आशंका है कि अगली सर्दियों में हम फिर इस महामारी की चपेट में होंगे। अमेरिकी राज्य मिसौरी ने कोरोना को लेकर चीन पर केस दर्ज कराया है।  

लॉस एंजिल्स में फायर डिपार्टमेंट ने सड़कों पर प्राईमरी टेस्टिंग सेंटर बनाए हैं। मंगलवार को ऐसे ही एक सेंटर पर जांच कराता व्यक्ति। 

अमेरिका : 480 अरब डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी 

अमेरिकी सीनेट ने 480 अरब डॉलर के आपातकालीन पैकेज को मंजूरी दे दी। इसे छोटे व्यापारियों, अस्पतालों और टेस्टिंग पर खर्च किया जाएगा। डेमोक्रेट, रिपब्लिकन और व्हाइट हाउस के बीच एक हफ्ते चली बातचीत के बाद यह राहत पैकेज को मंजूरी दी जा सकी है। गुरुवार को हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में इस पर वोटिंग होगी। ट्रम्प ने कहा- राहत पैकेज से कमजोर और कामगार तबके को सबसे ज्यादा राहत मिलेगी।  

मैड्रिड के ला पेज हॉस्पिटल के सर्जरी चीफ जॉक्विन डियाज की कोरोना से मौत हो गई थी। मंगलवार को स्वास्थ्यकर्मियों ने ताली बजाकर और मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

कनाडा: अब तक 1,834 मौतें

कनाडा में मंगलवार को एक हजार नए मामले सामने आए। संक्रमितों की कुल संख्या 38,422 हो गई है। 1,834 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले क्यूबेक (20,126) और ओंटेरियो (11,735) प्रांतों में हैं। डब्ल्यूएचओ ने 11 मार्च को कोरोना को महामारी घोषित किया था।

तस्वीर कनाडा के मॉन्ट्रियल में विला वैल डेस एरब्रिज की है। यहां सीनियर सिटीजंस की देखभाल के लिए आर्मी की मेडिकल यूनिट पहुंची।

इटली: लॉकडाउन में ढील के आसार

यहां संक्रमण दर में पहली बार बड़ी गिरावट देखी गई। प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंटे ने कहा कि वे 4 मई के बाद लॉकडाउन में छूट देने का ऐलान करेंगे। हालांकि, यहां मृतकों का आंकड़ा 25 हजार के पार चला गया है। अब तक देश में कोरोना से 25,085 लोगों ने जान गंवाई है। अभी भी कोविड-19 के 1 लाख से ज्यादा एक्टिव मरीज हैं। 

इटली के प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंटे मंगलवार को संसद में एक साथी से बातचीत करते हुए। माना जा रहा कि सरकार 4 मई के बाद कुछ सेक्टर्स में ढील दे सकती है।

जापान: इटली के क्रूज पर 33 संक्रमित
नागासाकी पोर्ट पर मरम्मत के लिए ठहरे इटली के क्रूज पर 33 लोग संक्रमित मिले। जापान में पिछले 24 घंटे में 18 लोगों की मौत हुई। 377 नए संक्रमित मिले। कुल 281 लोग जान गंवा चुके हैं। प्रधानमंत्री शिंजो आबे इमरजेंसी लगा चुके हैं। 

जापान के गिफू प्रांत में एक मरीज को आईसोलेशन सेंटर में शिफ्ट करते हेल्थ वर्कर। देश में इस वक्त मेडिकल इमरजेंसी लागू है।

दक्षिण अफ्रीका: 26 अरब डॉलर का राहत पैकेज
राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने मंगलवार को 26 अरब डॉलर के राहत पैकेज की घोषणा की। यह देश के जीडीपी के 10% के बराबर है। इसका इस्तेमाल संकट से जूझ रहे लोगों की मदद और अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए किया जाएगा। देश में 27 मार्च से लॉकडाउन है। अंतिम संस्कार को छोड़कर सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध है।  

दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन शहर में भोजन के लिए लाइन में लगे बच्चे। देश में 27 मार्च से लॉकडाउन जारी है।

जर्मनी: बर्लिन मैराथन रद्द
जर्मनी सरकार इस साल बर्लिन मैराथन रद्द कर दी है। सरकारी बयान में कहा गया, “24 अक्टूबर तक भीड़ वाले किसी भी इवेंट को कराने पर रोक है। हम 26-27 सितंबर को होने वाली बर्लिन मैराथन का आयोजन नहीं कर पाएंगे।” देश में अब तक एक लाख 48 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 5,086 की मौत हो चुकी है।

जर्मनी के ड्रेसडेन शहर में तैनात पुलिसकर्मी। देश में कोरोना से मौतों का आंकड़ा 5,086 हो गया है।

सऊदी अरब: लॉकडाउन में राहत पर विचार
सऊदी अरब सरकार रमजान के दौरान लॉकडाउन में राहत देने पर विचार कर रही है। सरकार ने सोमवार रात मक्का और मदीना में नमाज के लिए भी रहत दे दी है। देश में अब तक 11 हजार 631 संक्रमित हैं। 109 लोगों की मौत हो चुकी है।

अबूधाबी के क्लीवलैंड अस्पताल में शिफ्ट शुरू होने से पहले टीम लीडर की ब्रीफिंग सुनता नर्सिंग स्टाफ।

चीन: 30 नए मामले 
चीन में मंगलवार को 30 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 23 संक्रमित ऐसे हैं जो दूसरे देशों से चीन पहुंचे। यहां मंगलवार को किसी संक्रमित की मौत नहीं हुई। राष्ट्रपति शी जिनपिंग मंगलवार को शांक्सी प्रांत के चिनमी गांव पहुंचे। यहां 188 गरीब परिवार रहते हैं। शी ने इस गांव में गरीबी दूर करने के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी ली।

चीन की राजधानी बीजिंग के एक चौराहे पर डांस करता कपल। यहां ज्यादातर शहरों से पाबंदियां हटाई जा चुकी हैं।

रूस: मॉस्को में 24 घंटों में 28 की मौत
रूस की राजधानी मॉस्को में 24 घंटों में 28 लोगों की मौत हो गई। इससे यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 261 पहुंच गया है। मॉस्को में कोरोना के 29,430 मामलों की पुष्टि हुई है। यहां 2,050 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं।  

रूस के सेंटपिटसबर्ग में मिलिट्री मेडिकल एकेडमी के कैडेट्स में हॉस्टल से बाहर निकलते हुए। देश में 52 हजार से ज्यादा लोग सक्रमित हो चुके हैं।

ब्राजील: अब तक 2741 की जान गई
ब्राजील में 24 घंटे में 166 लोगों की मौत हुई, जबकि 2,500 नए केस सामने आए हैं। यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 2,741 पहुंच गया। ‘द ब्राजीलियन रिपोर्ट’ के मुतबिक, नौ दिनों में संक्रमण का आंकड़ा यहां दोगुना हो गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वीकार किया है कि मौतों की वास्तविक संख्या ज्यादा भी हो सकती है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here