• विशेषज्ञ के मुताबिक, अच्छी नींद का मतलब है कि बिस्तर पर केवल करवट न बदलें, कम से कम 6-7 घंटे की नींद जरूरी
  • सरसों, नारियल या तिल के तेल या फिर देसी घी की कुछ बूंदें दिन में चार-पांच बार नाक में डालें

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 02:32 PM IST

नई दिल्ली. आयुष मंत्रालय के सलाहकार डॉ. मनोज नेसारी के मुताबिक कोरोना से बचने के लिए इम्युनिटी जरूरी है लेकिन यह दवा या किसी खास चीज को खाने से नहीं बढ़ती। इसके लिए अपने बिगड़े रूटीन को सुधारने के साथ खानपान पर ध्यान देना जरूरी है। जानिए कोरोना से जुड़े सवाल और डॉ. मनोज नेसारी के जवाब जो उन्होंने आकाशवाणी को दिए…

#1) कोविड-19 के मरीजों में ठीक होने वालों की संख्या बढ़ रही है, इसे कैसे देखते हैं?
वायरस से जितने लोग संक्रमित हो रहे हैं, उनमें से 38.79 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं। कहीं न कहीं इम्युनिटी की वजह से संक्रमितों को ठीक होने में मदद मिल रही है। वहीं आयुष मंत्रालय ने भी अलग-अलग राज्यों में कुछ प्रयास किए हैं, उनका भी फायदा कहीं न कहीं हो रहा है।

#2) इम्युनिटी के लिए सबसे जरूरी चीज क्या है?
यह किसी दवा या किसी एक खाद्य पदार्थ से नहीं बढ़ती है। इसके लिए संतुलित भोजन जरूरी है। जो भी खाएं ताजा खाएं। समय से खाना लेना भी जरूरी है। खुद को स्वस्थ बनाएं, शरीर को आराम दें। अच्छी नींद लें। अच्छी नींद से मतलब है कि बिस्तर पर केवल करवट न बदलें, कम से कम 6-7 घंटे की नींद जरूर लें।

अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सीडीसी ने कोरोना के नए लक्षण जारी किए हैं, ऐसा कोई लक्षण दिखने पर डॉक्टरी सलाह लें।

#3) आयुष मंत्रालय ने संक्रमण से बचने के लिए लोगों को किन चीजों के सेवन की सलाह दी है?

गर्म पानी पीना चाहिए, जहां तक हो सके ठंडा पानी पीने से बचें। फ्रिज का बर्फ वाला पानी न पीएं। तीन वनस्पति गिलोय, आंवला और अश्वगंधा का सेवन करें। इनकी गोली भी आती है। गिलोय धनवटी ले सकते हैं। आंवला के लिए च्यवनप्राश का सेवन करें। हल्दी वाला दूध काफी फायदेमंद है। गर्म पानी से सुबह-शाम गरारा करने से गला साफ रहता है। इसके अलावा सरसों, नारियल या तिल के तेल या देसी घी की कुछ बूंद दिन में चार-पांच बार नाक में डालें। इन उपायों से खुद का बचाव कर सकते हैं।

#4) घर पर काढ़ा कैसे बनाएं?
तुलसी की 4 पत्तियां, 1 लौंग, थोड़ी सी दालचीनी और 5-10 ग्राम अदरक को कूचकर डेढ़ कप कप पानी में उबालें। जब यह एक कप रह जाए तो उसमें शहद डालकर पी सकते हैं। अगर मधुमेह की बीमारी है तो उसमें चीनी या शहद न डालें। अधिक जानकारी आयुष मंत्रालय की वेबसाइट से ली जा सकती है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here