• मध्य अमेरिका का यह देश गैंगस्टरों और माफिया से लंबे समय से जूझ रहा
  • पिछले साल जून में राष्ट्रपति बने नायब बुकेले ने अपराधियों पर शिकंजा कसा है

दैनिक भास्कर

Apr 27, 2020, 03:50 PM IST

सैन सल्वाडोर. मध्य अमेरिका के सबसे छोटे और घनी आबादी वाले देश अल सल्वाडोर में एक दिन में बीते शुक्रवार को 22 हत्याएं होने के बाद राष्ट्रपति नायब बुकेले ने प्रिजन लॉकडाउन लगा दिया। राष्ट्रपति ने इजैल्को समेत अन्य जेलों में बंद गैंगस्टर उनके माफिया और सदस्यों पर सख्ती बरती है। गैंग लीडरों को एकांत कारावास में भेजने का आदेश दिया है।

बुकेले ने ट्वीट किया, ‘‘बाहरी दुनिया से कई संपर्क नहीं रहेगा, दुकानें और अन्य गतिविधियां अगले आदेश तक बंद रहेंगे। गैंग लीडरों को एकांत कारावास में भेजा जाएगा।’’ बुकेले ने कहा कि ‘मैक्सिमम इमरजेंसी’ तब तक लगी रहेगी जब तक पुलिस 22 हत्याओं की जांच नहीं कर लेगी। 

इजैल्को जेल में बहुत खतरनाक अपराधियों को रखा जाता है। अल सल्वाडोर में गैंगवार अधिकतर होते रहते हैं।

राष्ट्रपति नायब के सत्ता में आने के बाद क्राइम कम हुआ

जेल के अधिकारियों ने कैदियों पर सख्ती शुरू की है। बुकेले पिछले साल जून में प्रेसिडेंट बने थे। माना जा रहा है कि राष्ट्रपति नायब बुकेले के सत्ता में आने के बाद क्राइम कम हुआ है, लेकिन इस घटना से फिर से क्रिमिनल गैंग्स की मजबूत पकड़ के सुबूत दिए हैं। 

सरकार भी इन गैंग्स पर नियंत्रण पाने में नाकाम रही है। हालांकि, राष्ट्रपति नायब बुकेले के आने के बाद कुछ हद तक नियंत्रण लगा है।

कोरोनावायरस के कारण हुआ लॉकडाउन तो सक्रिय हुए क्रिमिनल गैंग्स
अल सल्वाडोर में अब तक कोरोनावायरस से संक्रमण के कुल 323  मामले आए हैं और 8 लोगों की मौत हो गई है। फिर भी महामारी ज्यादा न बढ़े इसलिए यहां लॉकडाउन लगाया गया है। इस दौरान यहां क्रिमिनल गैंग्स काफी सक्रिय हो गए। शुक्रवार को 22 हत्याएं होने के बाद यहां प्रिजन इमरजेंसी लगा दी गई। कुछ साल पहले ही अल साल्वाडोर में सबसे ज्यादा हत्या की दर थी। यहां मारस जैसे गैंगस्टरों का राज था। बुकेले के सत्ता में आने के बाद हत्या की घटनाओं में कमी आई है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here