Credit Card होल्डर्स को बैंकों ने दिया बड़ा झटका! अब कम कर पाएंगे अपने कार्ड से खर्च

Credit Card होल्डर्स के लिए बुरी खबर! बैंक घटा रहे हैं लेनदेन करने की लिमिट

कोरोनावायरस ने देश के सभी लोगों के आर्थिक हालत को ख़राब कर दिया है. किसी का बिज़नेस ठप पड़ा है तो किसी की सैलरी कट हो रही हैं. वहीं अब कई बैंक ग्राहकों की क्रेडिट कार्ड लिमिट को घटा रहे हैं.

नई दिल्ली. कोरोनावायरस ने देश के सभी लोगों के आर्थिक हालत को ख़राब कर दिया है. किसी का बिज़नेस ठप पड़ा है तो किसी की सैलरी कट हो रही हैं. वहीं अब कई बैंक ग्राहकों की क्रेडिट कार्ड लिमिट को घटा रहे हैं. ET में छपी एक खबर के अनुसान ऐक्सिस बैंक के एक इंटरनल मेमो में कहा गया है कि करीब दो लाख कस्टमर्स की क्रेडिट लिमिट घटा दी गई है. यह मेमो ईटी ने देखा है. इसके मुताबिक यह लिमिट 15 अप्रैल से घटाई गई. ऐक्सिस बैंक के कुछ कस्टमर्स ने इसकी पुष्टि की. इस ग्रुप के लिए क्रेडिट लिमिट 30-90% तक कम की गई है.

क्रेडिट लिमिट में 90 फीसदी की कटौती
ऐक्सिस बैंक के एक कस्टमर ने ET को बताया कि उनका ऐक्सिस बैंक विस्तारा कार्ड पर क्रेडिट लिमिट पांच लाख रुपये से घटाकर महज 50000 रुपये पर ला दी गई है, जबकि वे बकाया समय पर चुकाता रहा हूं. कस्टमर केयर से पूछा तो बताया गया कि यह टेक्निकल गड़बड़ी से हुआ और कुछ दिनों में इसे ठीक कर दिया जाएगा. एक अन्य कस्टमर ने बताया कि उनकी लिमिट सात लाख से घटाकर डेढ़ लाख रुपये कर दी गई है.

ये भी पढ़ें: PM-Kisan योजना जुड़े से खातों में पहुंचे 2000 रुपए, ऐसे चेक करें लिस्ट अपना नामकोटक महिंद्रा बैंक के प्रेजिडेंट (कस्टमर एसेट्स) अंबुज चंदना का कहना है कि ऐसा नहीं है कि अभी के हालात में कोई विशेष कदम उठाया गया है. क्रेडिट कार्ड से खर्च और रीपेमेंट के हिसाब से हम कस्टमर्स की क्रेडिट लिमिट तय करते हैं और कुछ मामलों में इसे बढ़ाते या घटाते हैं.

क्रेडिट कार्ड बकाया पिछले महीने बहुत बढ़ा
RBI के आंकड़ों से पता चलता है कि फरवरी अंत में क्रेडिट कार्ड पर बकाया 1.1 लाख करोड़ रुपये के ऑलटाइम हाई लेवल पर था. देश में जनवरी अंत में 5.6 करोड़ से ज्यादा एक्टिव क्रेडिट कार्ड थे. HDFC बैंक ने पर्सनल लोन की पात्रता की शर्त कड़ी कर दी है और लिमिट भी घटा दी है. इसकी लिमिट अब आवेदक के सालाना वेतन के 70-80% पर हो गई है, जबकि पहले 100% थी.

ये भी पढ़ें: क्या म्यूचुअल फंड्स स्कीम में पैसा लगाने वालों को अब घबराने की जरूरत है?

बैंक केवल इन रिटेलर्स को दे रहे हैं लोन
बैंक रिटेलरों को लोन और मर्चेंट एंटरप्राइज ओवरड्राफ्ट में भी कमी कर रहे हैं. HDFC बैंक के इंटरनल मेमो में ब्रांच मैनेजरों को निर्देश दिया गया है कि अगले आदेश तक ऐसे लोन केवल ग्रॉसरी स्टोर्स, फार्मेसी और डेयरी को दिए जाएं. ईटी ने यह मेमो देखा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: April 24, 2020, 1:43 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here