1.

1.

मिल के होती थी कभी ईद भी दीवाली भी

अब ये हालत है कि डर डर के गले मिलते हैं

अज्ञात

2.

2.

जिस तरफ़ तू है उधर होंगी सभी की नज़रें

ईद के चाँद का दीदार बहाना ही सही

अमजद इस्लाम अमजद

3.

3.

उस से मिलना तो उसे ईद-मुबारक कहना

ये भी कहना कि मिरी ईद मुबारक कर दे

दिलावर अली आज़र

4.

4.

कोई इतना चाहे तुम्हें तो बताना,

कोई तुम्हारे इतने नाज़ उठाए तो बताना,

ईद मुबारक तो हर कोई कह देगा तुमसे,

कोई हमारी तरह कहे तो बताना।

Eid Mubarak

5.

5.

माह-ए-नौ देखने तुम छत पे न जाना हरगिज़

शहर में ईद की तारीख़ बदल जाएगी

जलील निज़ामी

6.

6.

जो लोग गुज़रते हैं मुसलसल रह-ए-दिल से

दिन ईद का उन को हो मुबारक तह-ए-दिल से

ओबैद आज़म आज़मी

7.

7.

हम ने तुझे देखा नहीं क्या ईद मनाएँ

जिस ने तुझे देखा हो उसे ईद मुबारक

लियाक़त अली आसिम

8.

8.

देखा ईद का चाँद तो

मांगी ये दुआ रब से,

देदे तेरा साथ ईद का तोहफा समझ कर।

ईद मुबारक।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here