Corona Lockdown 2.0: ऑनलाइन शॉपिंग के लिए जारी हुए नए नियम, 20 अप्रैल से होंगे लागू

ग्राहक जल्द ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म के ज़रिए सामान खरीद सकेंगे.

नए दिशानिर्देशों में कहा गया है कि सीमांकित नियंत्रण क्षेत्रों, हॉट्स्पॉट और रेड ज़ोन को छोड़कर पूरे देश में सभी जगह माल लाने ले जाने की अनुमति दी जाएगी.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते केंद्र की ओर से 3 मई तक के लिए बढ़ाए गए लॉकडाउन (Lockdown Phase 2 guidelines) पर सरकार द्वारा बुधवार को नई गाइडलाइंस जारी की गईं. इससे माना जा रहा है कि ग्राहक जल्द ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म (अमेज़न, फ्लिपकार्ट) के ज़रिए सामान खरीद सकेंगे. नई गाइडलाइंस में कहा गया है कि सभी गतिविधियां राज्य/ केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा अनुमति देने के बाद 20 अप्रैल से लागू होंगी. ये फैसला ऐसे समय में आया है जब कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण को रोकने के प्रयास में भारत में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है.

नए दिशानिर्देशों में कहा गया है कि सीमांकित नियंत्रण क्षेत्रों, हॉट्स्पॉट और रेड ज़ोन को छोड़कर पूरे देश में सभी जगह माल लाने ले जाने की अनुमति दी जाएगी. इसमें माल और पार्सल के परिवहन के लिए रेलवे का संचालन, मालवाहक आवाजाही के लिए हवाई अड्डों और कार्गो के लिए लैंड पोर्ट पर परिचालन शामिल है. साथ ही इसमें डिलीवरी के लिए ट्रकों और ई-कॉमर्स वाहनों की आवाजाही भी शामिल है.

https://www.youtube.com/watch?v=zd0i4GAPu0Q

(ये भी पढ़ें- क्या 3 मई तक बढ़ेगी आपके प्रीपेड प्लान की वैलिडिटी? ट्राई ने बताया पूरा प्लान)गाइडलाइंस में कहा गया है कि हॉट्स्पॉट या रेड जोन एरिया में ज़रूरी सामान के साथ आने वाले ई-कॉमर्स वाहनों को अनुमति दी जाएगी. इसके अलावा यहां कुरियर सर्विस वाहनों को भी अनुमति मिलेगी.

सरकार ने बताया कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति श्रृंखला में सभी सुविधाएं, चाहे वे स्थानीय दुकानों, रिटेल स्टोर या ई-कॉमर्स कंपनियों के माध्यम से हों, उन्हें डिलिवरी की अनुमति दी जाएगी. इसके लिए उन्हें सख्ती से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. उम्मीद की जा रही है कि नई गाइडलाइंस से शॉपिंग वेबसाइट और ई-कॉमर्स वेबसाइट ग्राहकों के ऑर्डर ले सकेंगे और डिलिवरी कर सकेंगे.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp ने इन यूज़र्स को दी ज़रूरी सलाह- इसलिए फौरन अपडेट कर लें अपना वॉट्सऐप) 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: April 15, 2020, 1:03 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here