• सब्जी बाहर से जाएं तो गर्म पानी में धोने की जरूरत नहीं, साफ पानी में धुलें या थोड़ी देर पानी में छोड़ दें और अच्छी तरह पकाकर खाएं
  • कोरोना के मरीजों में कमी आई, लॉकडाउन से पहले 3 दिन में मरीजों की संख्या दोगुनी हो रही थी, अब 6.2 दिन में ऐसा हो रहा है

दैनिक भास्कर

Apr 20, 2020, 02:54 PM IST

क्या सब्जी को गर्म पानी में धोने से वायरस नष्ट हो जाएगा, घर को सैनेटाइज कैसे करें, कोरोना से संक्रमित मृतक का अंतिम संस्कार कैसे होता है…. ऐसे कई सवालों के जवाब आकाशवाणी ने ट्विटर पर जारी किए हैं। डॉ. रजनीश कौशिक, राम मनोहर लोहिया अस्पताल, नई दिल्ली से जानिए ऐसे ही कई कोरोनावायरस से जुड़े सवालों के जवाब…

#1) क्या सब्जी को गर्म पानी में धोने से वायरस नष्ट हो जाएगा?
अगर सब्जी बाहर से लाते हैं तो उसे गर्म पानी में धोने की जरूरत नहीं है। साफ पानी में धुलें या थोड़ी देर तक पानी में छोड़ दें। कुछ घंटों में वायरस नष्ट हो जा जाता है। उसके बार उसे अच्छी तरह पकाकर खाएं। लेकिन अगर बाहर से पका हुआ भोजन मंगाकर खा रहे हैं तो उसे गर्म करने के बाद ही खाएं।

#2) अगर घर को सैनेटाइज करना है तो कैसे करें?
ब्लीचिंग पाउडर से अपने घर और सामान, फर्नीचर को साफ कर सकते हैं। ऐसी जगह जिसे बार-बार छूना ही पड़ता है उसे जरूर साफ करें, जैसे दरवाजे के हैंडल। इसके अलावा हाथ को साबुन से धोएं या अल्कोहलयुक्त सैनेटाइटर से साफ करें।

#3) कोरोना से संक्रमित मृतक का अंतिम संस्कार कैसे होता है?
कोरोना से संक्रमित मृतकों के शवों के अंतिम संस्कार के लिए सरकार ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं। डेड बॉडी को केमिकल से अच्छी तरफ सफाई के बाद पूरी तरह से सील किया जाता है। इसके बाद शव को दफ्ना या दाह संस्कार भी कर सकते हैं। इस दौरान सीधे तौर पर शव को छूने की मनाही है। इलेक्ट्रिक या गैस वाले शव दाह गृह में जलाने की सलाह दी जाती है। अस्पताल की ओर से एक स्वास्थ्यकर्मी भी अंतिम संस्कार के लिए भेजा जाता है। इस दौरान 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकते। 

#4) क्या लॉकडाउन के बाद में मरीजों की संख्या में कमी आई है?
कोरोनावायरस का जो पीक टाइम था वो निकल चुका है। अब मरीजों की जो संख्या है वह शुरुआती आंकड़ों के मुकाबले कम है। लॉकडाउन के कारण आंकड़ों में कमी आई है। लॉकडाउन से पहले 3 दिन में मरीजों की संख्या दोगुनी हो रही थी, अब 6.2 दिन में ऐसा हो रहा है। सबसे खास बात है कि मरीजों के ठीक होने की रफ्तार भी बढ़ी है।

#5) कोरोनावायरस की जांच रिपोर्ट में कितना समय लगता है?
कोरोना के संदिग्ध मरीजों की दो तरह से जांच की जाती है। पहला पीसीआर टेस्ट करते हैं जिसमें वायरस का डीएनए टेस्ट किया जाता है। पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट 10-15 घंटे में आ जाती है। दूसरा एंटीबॉडी टेस्ट होता है, जिसकी रिपोर्ट तुरंत आ जाती है। लेकिन इसे हर जगह नहीं कर सकते क्योंकि एंटीबॉडी बनने में समय लगता है। इसलिए अभी इस टेस्ट को बड़े पैमाने में नहीं किया जा रहा है।

क्या जानवरों से भी कोरोनावायरस का खतरा है?
अभी जानवरों से वायरस फैलने का मामला सामने नहीं आया है। अगर घर पर पालतू है तो कोई परेशानी नहीं हे। लेकिन वक्त बाहरी जानवरों के पास जाना उचित नहीं है क्योंकि वे कहां जाते हैं क्या खाते हैं आप नहीं जानते।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here