• सफेद पोशाक में भूतों की ड्यूटी लगाने का आइडिया युवाओं के स्थानीय ग्रुप ने स्थानीय पुलिस प्रशासन को दिया

  • गांव के मुखिया के मुताबिक, यहां के लोग लॉकडाउन को लेकर अधिक जागरुक नहीं इसलिए नियम का पालन कराना मुश्किल हो रहा है

दैनिक भास्कर

Apr 14, 2020, 06:26 PM IST

इंडोनेशिया में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए ‘भूतों’ का सहारा लिया जा रहा है। मध्य जावा प्रांत के सुकोहारजो रिजेंसी गांव लोग लॉकडाउन के नियमों को मानने में आनाकानी कर रहे है। इसका हल निकालते हुए प्रशासन ने कुछ लोगों को भूत के भेष में मोहल्लों के बाहर बैठा दिया है। रात में जब भी कोई निकलता है तो ये उसे डराते हैं।  

स्थानीय लोग इसे पोकॉन्ग कहते हैं
सफेद पोशाक में भूतों की ड्यूटी लगाने का आइडिया युवाओं के ग्रुप ने स्थानीय पुलिस प्रशासन को दिया। इंडोनेशिया में इस तरह के भूतों को पोकॉन्ग कहते हैं। यहां मान्यता है कि मरे हुए लोगों की आत्माएं कपड़ों में लिपटकर पोकॉन्ग के रूप में घूमती रहती हैं। इसे मलेशियन भूत भी कहा जाता है।

पोकॉन्ग का भेष डरावना है
लॉकडाउन के दौरान इन भूतों को तैयार करने वाली केपूह समूह के प्रमुख अंजर का कहना है कि हम अलग किस्म का रूप तैयार करना चाहते थे इसलिए पोकॉन्ग जैसा भेष तैयार किया क्योंकि ये काफी डारावना है। टीम का कहना है कि हम चाहते हैं इस समय लोग घरों में रहें ताकि कोरोनावायरस का फैलने से रोका जा सके। 

उल्टा पड़ गया असर
गांव में इस बात चर्चा शुरु होते ही इस मुहिम का असर उल्टा हो गया है। अब लोग इनकी झलक देखने के लिए आतुर हैं। इसे तैयार करने वाली टीम को रणनीति में बदलाव के लिए कहा गया है। गांव के मुखिया प्रियादी का कहना है कि कोरोनावायरस के संक्रमण से कैसे बचना है इस बात को लेकर स्थानीय लोगों में जागरुकता का अभाव है। वह सामान्य जिंदगी जीता चाहते हैं। ऐसे में लॉकडाउन के निर्देशों का उनसे पालन कराना मुश्किल हो रहा है।

सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल
भूत के भेष में लोगों के साथ प्रैंक करने वाले 38 साल के एलियास कहते हैं, मैं रात में घूमता हूं और युवाओं को घर में रहने के लिए प्रेरित करता हूं। जब मैं ये तस्वीरें अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करता हूं तो लोग परेशान हो जाते हैं और घरों से बाहर निकलने से डरते हैं। सोशल मीडिया यूजर मुझसे पूछते हैं क्या ये तस्वीरें सच्ची हैं। इसकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

यूक्रेन में कब्र खोदकर लोगों को डरा रहे

यूक्रेन में भी डर पैदा करके लोगों को लॉकडाउन का पालन करने की सख्त हिदायत दी जा रही है। तरीका थोड़ा दिलचस्प है। यूक्रेन के निपरो शहर में 600 कब्र खोदी गई हैं। लोगों को यह बताया गया है कि यह सब कोरोना से मरने वाले लोगों के लिए हैं। यहां के मेयर बोरेस फिलातोव ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कब्र खोदे जाने की जानकारी दी है। इस शहर में कोरोनावायरस के अब तक 13 मामले सामने चुके हैं हालांकि अब तक एक भी मौत नहीं हुई है।

यूक्रेन के निपरो शहर में 600 कब्र खोदी गई हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here