श्रीनगर: देशभर में लॉकडाउन लागू है, इसके बावजूद श्रीनगर में लोगों की आवाजाही में बढ़ोतरी हुई है. यहां सोमवार को पिछले दिनों के मुकाबले सड़कों पर लोगों की आवाजाही ज्यादा देखने को मिली.

लॉकडाउन में कोई राहत नहीं दी गई है, फिर भी सड़कों पर काफी मात्रा में प्राइवेट गाड़ियां देखी गईं. सड़कों पर लोगों की बड़ी तादाद को देखते ही दर्जनों जगहों पर पुलिस और CRPF के नाके सख्त किए गए और लोगों की आवाजाही पर लगाम लगाने की कोशिश की गई.
 
प्रशासन ने सोमवार को केवल 30 प्रतिशत सरकारी मुलाजिमों को काम पर लौटने के लिए कहा था. इसके अलावा इन मुलाजिमों के पास पहचान पत्र के साथ-साथ मूव्मेंट पास होना भी आवश्यक किया गया था. 

डिवीजनल कमिश्नर ने कहा सिर्फ 30% सरकारी मुलाजिम को इजाजत दी गई है. सरकारी आदेश के मुताबिक जो रेड जोन में नहीं हैं और उनके पास मूवमेंट पास भी होना जरूरी है. 

मगर इसके बावजूद लोग घरों से बाहर आते दिखे और अब सुरक्षाबल सख्ती के साथ हालात कंट्रोल कर रहे हैं. श्रीनगर में 79 कोरोना वायरस के मामले दर्ज हुए हैं, जिनमें 59 अब भी ऐक्टिव हैं. श्रीनगर में 15 रेड जोन घोषित किए गए हैं, जिन्हें सील कर दिया गया है. 

कश्मीर में बांदीपोरा और श्रीनगर में सबसे ज्यादा COVID-19 के मामले सामने आए हैं. पूरे कश्मीर में 299 कोरोना वायरस के मामले दर्ज हुए हैं और अबतक 4 की मौत भी हो चुकी है. केंद्र सरकार ने पहले सभी राज्यों और यूटी को कहा था कि लॉकडाउन के उल्लंघन की खबरें मिल रही हैं, ये घातक सिद्ध हो सकता है और इस पर कड़े कदम उठाए जाएं. 

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here