MIUI 12 को आधिकारिक तौर पर पिछले महीने चीन में लॉन्च किया गया था। शाओमी ने घोषणा की थी कि कंपनी जून से अपने स्मार्टफोन्स के लिए अपडेट रोल आउट करना शुरू कर देगी और अभी कंपनी फोन पर क्लोज़्ड बीटा अपडेट जारी करने पर काम कर रही है। MIUI 12 ग्लोबल ROM की घोषणा अभी नहीं की गई है, लेकिन Xiaomi ने नए एमआईयूआई 12 पायलट टेस्टिंग प्रोग्राम के लिए लोगों की भर्ती शुरू कर दी है। यह नया कार्यक्रम केवल कुछ डिवाइसों के लिए लॉन्च किया गया है और भारतीय Redmi K20 Series यूज़र्स MIUI 12 क्लोज़्ड बीटा की टेस्टिंग के लिए आवेदन कर सकते हैं।

शाओमी ने MIUI 12 पायलट टेस्टिंग प्रोग्राम की घोषणा करने के लिए अपने फोरम का सहारा लिया है। कंपनी Redmi K20 Pro और Redmi K20 पर MIUI 12 प्री-रिलीज़ बिल्ड के टेस्ट के लिए यूज़र्स को भर्ती कर रही है। इस प्रोग्राम के लिए आवेदन करने के लिए बीटा टेस्टर को इस टेलीग्राम ग्रुप में शामिल होना होगा और इस Google फॉर्म को भरना होगा। यह फॉर्म ईमेल आईडी, आपके पास मौजूद डिवाइस, आपकी टेलीग्राम यूज़र आईडी और आपके फोन के ‘About Phone’ सेक्शन के स्क्रीनशॉट समेत कुछ अन्य चीजों की जानकारी मांगता है। यूज़र्स 14 मई (रात 9 बजे आईएसटी) तक टेलीग्राम ग्रुप में शामिल होना होगा और 15 मई रात 9 बजे आईएसटी पर रजिस्टर करना होगा।

भारत में केवल रेडमी के20 प्रो और रेडमी के20 स्मार्टफोन यूज़र्स ही MIUI 12 पायलट प्रोग्राम में हिस्सा ले सकते हैं। हालांकि कंपनी ने ग्लोबल स्तर पर इसी तरह का एक कार्यक्रम शुरू किया है, जिसमें Mi 9, Mi 9T और Mi 9T Pro यूज़र्स भी आवेदन कर सकते हैं। योग्य यूज़र्स को ग्लोबल MIUI 12 पायलट प्रोग्राम के लिए आवेदन करने के लिए गूगल के इस फॉर्म को भरना होगा।

कंपनी सभी रजिस्ट्रेशन में से MIUI 12 पायलट प्रोग्राम के लिए कुछ यूज़र्स को चुनेगी। इन यूज़र्स को एक स्पेशल ओटीए अपडेट मिलेगा, जिसकी जानकारी केवल MIUI 12 टेलीग्राम ग्रुप के जरिए दी जाएगी। चुने हुए यूज़र्स को अलग MIUI 12 टेलीग्राम ग्रुप में जोड़ा जाएगा। Xiaomi ने रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ शर्तों को भी लिस्ट किया है। उदाहरण के लिए, यूज़र्स को Mi India कम्युनिटी का एक सक्रिय सदस्य होना ज़रूरी है। प्रोग्राम के लिए आवेदन करने से पहले यूज़र्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि डिवाइस लेटेस्ट ग्लोबल स्टेबल ROM पर चल रहा हो। टेस्टिंग के दौरान दिए गए ROM से संबंधित कुछ भी जानकारी लीक नहीं करनी होगी। इसके लिए बीटा टेस्टर को एनडीए पर हस्ताक्षर भी करना होगा। यूज़र्स को बीटा टेस्टिंग में निपुण होना चाहिए और साथ ही MIUI की भी समझ होनी चाहिए। इसके अलावा उसे फास्टबूट फ्लैशिंग और बूटलोडर को अनलॉक करना आना चाहिए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here