डेटा की खपत बढ़ने से मोबाइल टावर कंपनियों ने दूरसंचार विभाग से किया ये आग्रह

फाइल फोटो

मोबाइल टावर कंपनियां आईपी-1 श्रेणी में पंजीकृत हैं. अभी उनको दूरसंचार आपरेटर की ओर से एंटीना, नेटवर्क पारेषण उपकरण और केबल आदि लगाने की अनुमति है…

नई दिल्ली. मोबाइल टावर कंपनियों ने दूरसंचार विभाग ( Department of Telecom) से आग्रह किया है कि डेटा की खपत बढ़ने की वजह से नेटवर्क अद्यतन और विस्तार के लिए उनके परमिट का दायरा बढ़ाया जाए. उद्योग संगठन टावर एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर्स एसोसिएशन (infrastructure provider association) ने शुक्रवार को कहा कि उसने दूरसंचार सचिव अंशु प्रकाश को पत्र लिखकर भारतीय दूरसंचार नियामक एवं विकास प्राधिकरण (TRAI) की सिफारिशों के अनुरूप परमिट का दायरा बढ़ाने का आग्रह किया है.

मोबाइल टावर कंपनियां आईपी-1 श्रेणी में पंजीकृत हैं. अभी उनको दूरसंचार आपरेटर की ओर से एंटीना, नेटवर्क पारेषण उपकरण और केबल आदि लगाने की अनुमति है.

(ये भी पढ़ें- ALERT! 10 लाख स्मार्टफोन्स पर बड़ा खतरा, इन 56 ऐप्स को अभी Delete करने की सलाह)

ट्राई ने 13 मार्च को उनके कामकाज के दायरे को बढ़ाने की सिफारिश की थी. ट्राई ने कहा था कि इन कंपनियों को स्पेक्ट्रम को छोड़कर वायरलेस नेटवर्क और सिग्नल पारेषण की स्थापना के लिए ज़रूरी सभी ढांचे, उपकरण और प्रणालियों के स्वामित्व, स्थापना और रखरखाव की अनुमति दी जानी चाहिए.टावर कंपनियों का कहना है कि इस समय 90 प्रतिशत कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं. इसके अलावा ई-सेवाओं, ओटीटी प्लैटफॉर्म, ई-कॉमर्स और ई-गवर्नेंस का इस्तेमाल बढ़ा है. इन सभी चीजों की वजह से मोबाइल और इंटरनेट ट्रैफिक में 20 से 30 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp ने यूज़र्स को दी चेतावनी! बहुत भारी पड़ सकती है आप पर ये एक गलती)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गैजेट्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: April 4, 2020, 4:38 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here