नई दिल्ली: निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) मामले में फरार चल रहे मौलाना साद (Maulana Saad) का एक नया ऑडियो आया सामने. मौलाना ने ऑडियो के जरिए लोगों से रमजान में लॉकडाउन न तोड़ने और घर पर नमाज पढ़ने की अपील की है. लोगों को बुरा काम न करने की भी अपील की.

मौलाना साद अब लोगों से रमजान के दौरान लॉकडाउन न तोड़ने और घर पर नमाज पढ़ने की अपील कर रहा है. तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने अपने ऑडियो संदेश में तबलीगी जमात के लोगों से अनुरोध किया है कि वे प्रशासन का सहयोग करें. इस बीमारी का इलाज जरूरी है, इसलिए जांच भी कराएं. साद ने लोगों को बुरा काम न करने और बुरे काम से लोगों को रोकने की अपील भी की है.

ये भी पढ़ें: Coronavirus: देश में कोरोना मरीजों की संख्या 18 हजार पार, एक दिन में मौतों का रिकॉर्ड भी टूटा

साद ने इससे पहले भी एक ऑडियो जारी कर कहा था कि आपके पास सब्र होना जरूरी है. सब्र रखते हुए ही आप अपनी परेशानियों का समाधान पा सकते हैं.

बता दें कि तबलीगी जमात का कार्यक्रम करवाने वाले मौलाना साद और उसके कई साथियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया गया था. इसके साथ ही विदेश से आए जमाती जिन्होंने वीजा नियमों का उल्लंघन किया है उनके खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी कर दिया गया है.

तबलीगी जमातियों का पता बताने पर 10 हजार का इनाम
उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. सूबे में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1100 पार कर गई है जिनमें 17 लोगों की मौत हो चुकी है. मरीजों में करीब 55 फीसदी संख्या निजामुद्दीन मरकज में शामिल रहे तबलीगी जमात के लोगों की है. हर दिन नए केस सामने आ रहे हैं, जिनमें से बड़ी संख्या तबलीगी जमात में शामिल रहे लोगों की है.

यही वजह है कि यूपी सरकार निजामुद्दीन मरकज में शामिल रहे जमातियों पर शिकंजा कसती नजर आ रही है. इसी कड़ी में कानपुर पुलिस ने निजामुद्दीन मरकज में शामिल होंने वाले लोगों की जानकारी देने वालों को दस हजार रुपये का इनाम देने का ऐलान किया है. कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा है कि जानकारी देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी.

लाइव टीवी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here