X

zoom ceo said to work on security gliches data hack through video confrencing app zoombombing lockdown popular app | apps – News in Hindi


Zoom App

ज़ूम ने एक ऑनलाइन पोस्ट में कहा, ‘चीन में बैठक के सर्वरों का मकसद हमेशा ये सुनिश्चित करना होता है कि उपयोगकर्ताओं के चीन से बाहर होने वाली बैठक के आंकड़ें चीन के बाहर ही रहे.’

सैन फ्रांसिस्को. वीडियो काफ्रेंसिंग प्लैटफॉर्म ज़ूम (ZoomApp) ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण लगाए गए लॉकडाउन (lockdown) के दौरान उसका इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा में चूक को लेकर हो रही आलोचनाओं को दूर करने के लिए कई कदम उठाए हैं. ज़ूम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एरिक युआन ने उन कदमों की जानकारी दी जो कंपनी डेटा हैकिंग और किसी व्यक्ति द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग कॉल में जबरन घुसपैठ करने यानी ‘ज़ूम बॉम्बिंग’ से होनी वाली परेशानियों के खिलाफ कंपनी उठा रही है.

इस हफ्ते के आखिर तक पैसा देने वाले उपयोगकर्ता ये चुन सकेंगे कि उनका डेटा किस क्षेत्र से गुजरेगा. इस कदम का मकसद उन चिंताओं को दूर करना है कि चीन से गुजरने वाले डेटा में ताकझांक हो सकती है.

(ये भी पढ़ें-क्या घर में AC चलाने से फैलता है कोरोना वायरस? यहां जानें कितना सच है ये दावा)

ज़ूम ने एक ऑनलाइन पोस्ट में कहा, ‘चीन में बैठक के सर्वरों का मकसद हमेशा ये सुनिश्चित करना होता है कि उपयोगकर्ताओं के चीन से बाहर होने वाली बैठक के आंकड़ें चीन के बाहर ही रहे.’सिलिकॉन वैली के इस स्टार्टअप ने ये भी कहा कि वह कमियों का पता लगाने के लिए साइबर सुरक्षा कंपनी ‘लूटा सिक्योरिटी’ और उसके ‘बग बाउंटी’ कार्यक्रम के साथ काम रही है जो उन शोधकर्ताओं को इनाम देती है जो उसके काम में सुरक्षा संबंधी कमियों का पता लगाते हैं. ज़ूम ने हाल ही में आई उस खबर पर बात की जिसमें कहा गया कि अपराधी उपयोगकर्ताओं की ‘लॉग-इन’ सूचना ‘डार्क वेब’ पर बेच रहे हैं.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp की सीक्रेट ट्रिक! एक साथ 256 लोगों को भेजें Message, नहीं बनाना पड़ेगा Group)

ज़ूम ने कहा कि वह ऐसी प्रणाली बनाने पर काम कर रहा है जिसमें ये पता चल जाए कि क्या लोग यूज़रनेम और पासवर्ड चोरी करने की कोशिश कर रहे हैं. ज़ूम की सुरक्षा में किए गए सुधार में ऐसे टूलबार भी शामिल है जिसमें अजनबियों के लिए चैट को लॉक करने तथा बैठक करने संबंधी पासवर्ड आवश्यकताओं को डिफॉल्ट सेटिंग बनाया जा सकता है.

भारत ने ज़ूम के इस्तेमाल पर इस सप्ताह प्रतिबंध लगाते हुए कहा कि ये ऐप सुरक्षित नहीं है और सरकारी अधिकारी आधिकारिक कार्यों के लिए इसका इस्तेमाल न करें. इस बीच, अमेरिका के कई राज्यों के अभियोजक कंपनी की निजता और सुरक्षा संबंधी प्रक्रियाओं की जांच कर रहे हैं और एफबीआई ने ज़ूम सत्र के हाइजैक होने को लेकर आगाह किया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऐप्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: April 19, 2020, 3:38 PM IST

document.addEventListener("DOMContentLoaded", function() { document.getElementById("search-click").addEventListener("click", serchclick); /* footer brand slider start */ new Glide(document.querySelector('.ftrchnl-in-wrap'), { type: 'carousel', perView: 8, }).mount(); }); ! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = '2.0'; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView');



Source link

admin: